8 नवम्बर को ‘धोख़ा दिवस’, नोटबंदी की नाकामी पर देशव्यापी होगा प्रदर्शन – आप

0
61
आप का देश व्यापी  प्रदर्शन
आप करेगी नोटबंदी पर प्रदर्शन

मुंबई। आगामी 8 नवम्बर को विपक्ष सहित आम आदमी पार्टी पूरे देश में ‘धोख़ा दिवस’ मनाने जा रही है. नोटबंदी एंव मोदी सरकार की नीतियों को विफल मानने वाले सभी विपक्षी दल 8 नवम्बर को देशव्यापी प्रदर्शन करेगी.

आप करेगी देश व्यापी प्रदर्शन

पत्रकारों से बात करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एंव प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि ‘मोदी सरकार के द्वारा देश की जनता पर ज़बरदस्ती थोपे गए नोटबंदी के निर्णय की वजह से आज देश की अर्थव्यवस्था डूब रही है। देश की जनता के साथ केंद्र में बैठी मोदी सरकार ने बहुत बड़ा धोख़ा किया है.

 पढ़े:   बांद्रा के गरीब नगर में लगी भीषण आग 

आप के प्रवक्ता ने आगे कहा, युवा बेरोज़गार हो गया है. किसान आत्महत्या कर रहा है. व्यापारी कंगाल होता जा रहा है और मज़दूर बर्बाद हो चुका है. सब कुछ तहस-नहस हो गया है. इसीलिए आम आदमी पार्टी 8 नवम्बर के उस दिन को ‘धोख़ा दिवस’ के रुप में मनाएगी. जिस दिन देश के प्रधानमंत्री ने बिना सोचे समझे देश को गर्त में धकेलने का निर्णय ले लिया था.

मोदी सरकार द्वारा डुबोई अर्थव्यवस्था

आप नेता संजय सिंह ने बताया, जिसके तहत केंद्र सरकार के ऊट-पटांग निर्णयों की वजह से डूबती अर्थव्यवस्था की अर्थी निकाली जाएगी. मंगलवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित हुई पार्टी नेताओं की अहम बैठक में यह निर्णय लिया गया.

पढ़े :  मेहमान बन कर पनाह ली, हज़ारो का माल लेकर चम्पत 

बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता आशुतोष, संजय सिंह, राकेश सिन्हा एंव अन्य कई राज्यों के पर्यवेक्षक तथा फ़ोन लाइन पर पार्टी के वरिष्ठ नेता और दिल्ली संयोजक गोपाल राय शामिल रहे. पार्टी 8 नवम्बर को पूरे देश में इसे लेकर प्रदर्शन करेगी और केंद्र सरकार द्वारा बर्बाद की गई अर्थव्यवस्था की अर्थी निकालेगी.

नोटबंदी में गई कई लोगों की जान

गौरतलब है कि, 8 नवंबर 2016 को रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपये की नोट को क़ानूनी तौर से चलन से बाहर करने का ऐलान कर दिया था. जिसके बाद देश में एक तरह से आर्थिक आपातकाल जैसा माहौल बन गया था. इन नोटों के बंद होने के बाद 2000 रुपये का नोट चलन में लाया गया.

सरकार ने यह भी ऐलान किया था कि, एक दिन में सिर्फ 4000 रुपये ही बदले जा सकते हैं. जिसके बाद पूरा देश बैंक और एटीएम के बाहर कतार लगाने के लिए विवश हुआ. लेकिन इस कदम को आम जनता ने सराहा. परंतु इस दौरान लाइन में लगे कई लोगों को अपनी जान गवाना पड़ा था. जिकसे बाद विपक्ष ने इस मुद्दे को संसद में जोरो सोरो से उठाया था. सदन की कार्रवाही कई दिनों तक बाधित रही.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here