एक कदम समानता की ओर

0
159

सबको मिलेगा समानता का अधिकार

भोपाल: तृतीयपन्थियों(Transgenders) को हमारे समाज में हीन भावना से देखा जाता है। माननीय उच्च न्यायालय के इनके हित में फैसला किया है और समाज में इनको अलग पर सम्मान का भी दिया है। पर ऐसा प्रतीत होता है की ये की ये मान सम्मान समाज के इस तबके को केवल कानूनी तौर पर और कागजों पर ही मिला है क्योंकी समाज का ये तबका अभी भी अपने अधिकारों के लिए जूझ रहा है।

केंद्र सरकार की तरफ से तृतीयपन्थियों को सर्वजनिक शौचालय का इस्तेमाल करने की छूट देने के बाद अप्रैल में मैसूर के बस टर्मिनल में तृतीयपन्थियों के लिए खोला गया और अब इसी दिशा में कदम बढ़ाया है मध्य प्रदेश सरकार ने।

मध्य प्रदेश के भोपाल में तृतीयपन्थियों की सुविधा लिए शौचालय बनाया गया है जिसका उद्घाटन गये सोमवारमुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा किया गया। शौचालय प्रदेश के मंगलवारा में बनाया गया जहां समाज के इस तबके की तादात जादा है।

शौचालय का निर्माण भोपाल की म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन द्वारा किया गया। सूत्रों के माने तो शौचालाय में प्रसाधन की सुविधा के साथ साथ मेकअप रूम और चेंजिंग रूम भी है। शौचालय की लागत करीब 35 लाख रुपये है।

सूत्रों की बातों पर गौर करें तो शौचालय के उद्घाटन के दौरान मुख्यमंत्री जी ने कहा की तृतीयपन्थियों की समस्या को सुनने और उनका निदान खोजने के लिए मुख्यमंत्री आवास पर तृतीयपंथी नामक बैठक बुलाई जायेगी। इनको अपना घर बनाने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना से 1.5 लाख तक राशि भी दी जायेगी।

एक नामी समाचार पत्र से बात करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा की तृतीयपन्थियों को हमारी सरकार बराबर का हक दिलायेगी और जो भी इनके हक के खिलाफ कार्य करेगा उसके खिलाफ कार्यवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here