फ़िल्म ‘मुकद्दर’ भोजपुरी सिनेमा के प्रति लोगों का नज़रिया बदलेगी : शेखर शर्मा

0
119
मुक़द्दर लोगों का नजरियां बदलेगी
मुक़द्दर के निर्देशक शेखर शर्मा

मुंबई। सुपर स्‍टार खेसारीलाल  यादव और काजल राघवानी स्‍टारर भोजपुरी फिल्म ‘मुकद्दर’ अन्‍य रूटीन फिल्‍मों से काफी हटकर और नया है. यह भोजपुरी सिनेमा की प्रति लोगों की सोच बदल देगी. ऐसा कहना है फिल्‍म के निर्देशक शेखर शर्मा का.

इसे भी पढ़े : गुजरात : बीजेपी को दोहरा झटका, पाटीदारों को खरीदना चाहती है बीजेपी : निखिल सवानी

उन्‍होंने कहा कि अगर भाषा को थोड़ी देर के लिए अलग करके देखें तो यह फिल्‍म भी हिंदी की बेहतरीन फिल्‍मों की तरह लगेगी। बता दें कि शेखर शर्मा ने अपने करियर की शुरूआत म्‍यूजिक डायरेक्‍शन से किया और हिंदी, मराठी, असमी, साउथ जैसी अन्‍य भाषाओं की फिल्‍मों में अपना योगदान दिया। बाद में बतौर निर्देशक उन्‍होंने कई हिंदी और भोजपुरी फिल्‍में भी की।

महापर्व छठ पर सिनेमाघरों में रिलीज हो रही फ़िल्म

एस.के.फिल्म्स इंटरटेनमेंट एवं शालीमार प्रोडक्शन लिमिटेड के बैनर तले बनी फिल्म ‘मुकद्दर’ छठ पर्व के अवसर पर रिलीज़ हो रही है. शेखर शर्मा कहना है कि इस फिल्‍म में तकनीक का बेहतर और वाजिब इस्‍तेमाल किया गया है. जो अभी तक भोजपुरी फिल्‍मों में कम देखने को मिलता था.

इसे भी पढ़े: रक्त (खून )के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

शर्मा ने आगे कहा मैं फिल्‍म के निर्माता वसीम खान का तहे दिल से शुक्रगुजार हूं, जिन्‍होंने फिल्‍म की मेकिंग के दौरान मुझ पर भरोसा जताया और भरपूर सहयोग दिया. वे इंडस्‍ट्री के बेहतरीन निर्माताओं में से एक हैं. उन्‍हें ये पता है कि उनको क्‍या चाहिए और उन्‍होंने बस उतनी ही डिमांड मुझसे की. बांकी पूरी फिल्‍म की जिम्‍मेदारी हम पर छोड़ दी. वैसे ये फिल्‍म पूरी टीम की कठिन मेहनत का नतीजा है.

फ़िल्म में रोमांस, एक्शन का फुल्लडोज

शेखर ने फिल्‍म की कहानी के बारे में कहा कि यह एक म्‍यूजिकल लव स्‍टोरी है. इसमें एक्‍शन भी हैं. ट्विस्‍ट भी हैं. रोमांस भी हैं. यह भोजपुरी सिनेमा में पहली बार है, जब कोई स्‍टार अपने ही स्‍टारडम की कहानी को पर्दे पर जीया हो. ये खेसारीलाल यादव की ही कहानी है और इसे उन्‍होंने पूरी सिद्दत के साथ परफॉर्म किया है. हालांकि फिल्‍मों में अक्‍सर स्‍टरडम पाने की स्‍टोरी दिखाई जाती है, लेकिन ‘मुकद्दर’ पोस्‍ट स्‍टारडम की कहानी है.

फिल्‍म के स्‍टार कास्‍ट के बारे में शेखर बोलते हैं कि मैंने शमीम खान के साथ पहले भी फिल्‍में की है. वे एक अच्‍छे अभिनेता हैं. मगर खेसारीलाल यादव के साथ यह मेरी पहली फिल्‍म है. वे काफी सपोर्टिव और ए‍नर्जेटिक हैं. सेट पर हमेशा ऑन टाइम रहते हैं और सीन में पूरी तरह घुस जाते हैं. काफी अच्‍छे डांसर हैं और प्रोफेशनल आर्टिस्‍ट हैं. वहीं, काजल बेहद जहीन मिजाज वाली अदाकारा हैं. फिल्‍म में वे सेंट्रल कैरेक्‍टर में है.

भोजपुरी फ़िल्म इंडस्ट्री का दायरा बढ़ा

शेखर ने भोजपुरी और हिंदी सिनेमा को दो अलग – अलग कैनवास बताया और कहा कि आज भोजपुरी की बडी टेरेटरी है. इसलिए इस इंडस्‍ट्री में फिल्‍म मेकिंग के लिए बेहद सुधार की दरकार है. अभी यहां कई जगहों पर ध्‍यान देने और बेहतर काम करने की जरूरत है. तभी भोजपुरी फिल्‍में अच्‍छी बनेंगी भी और चलेंगी भी.

शर्मा ने गानों के बारे में बताया कि फिल्म ‘मुकद्दर’ के गाने काफी खूबसूरत हैं और कर्णप्रिय है. इसकी गवाही तो आज लोग भी दे रहे हैं. वहीं, यू-ट्यूब पर फिल्‍म के रिलीज से पहले ‘मुकद्दर’ के हर एक गाने को सात मिलियन से ज्‍यादा बार देखा गया है. जो कि इंडस्‍ट्री में एक रिकॉर्ड है. इससे साफ पता चलता है कि फिल्‍म के गाने कैसे हैं और अगर गाने इतने सुपर हिट हैं, तो अंदाजा लगा लीजिए कि फिल्‍म क्‍या करने वाली है बॉक्‍स ऑफिस पर. छठ पूजा पर फिल्म ‘मुकद्दर’ रिलीज हो रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here