गोपनीय जांच अभी बाकी है मेरे दोस्त

0
20

 

अभी हुई खुली जांच, गोपनीय जांच बाकी-एडीएम*

_*रवा गांव में शराब ठेके की जांच करने पहुंचे एडीएम, एसडीएम व सीओ*_

_*अधिकांश ग्रामीण निरस्त करने तो कुछ मौजूदा स्थान से ठेका हटाये जाने के पक्ष में*_

_*कोंच।*_ _स्थानीय निकाय क्षेत्र से विधान परिषद् सदस्य रमा निरंजन और उनके पति व प्रतिनिधि आरपी निरंजन की नाक का सवाल बना ग्राम रवा का ठेका लंबी जांच प्रक्रिया के दौर में जाकर फंसा है। रमा निरंजन द्वारा एसडीएम सुरेश सोनी पर ठेकेदार की तरफदारी करने के आरोप के बीच डीएम ने इसकी जांच एडीएम आरके सिंह को सौंपी है। शनिवार को एडीएम, एसडीएम और सीओ मौके पर जांच करने भी गये लेकिन अभी किसी नतीजे पर वे नहीं पहुंच सके हैं। एडीएम का कहना है अभी उन्होंने खुली जांच की है, गोपनीय जांच अभी बाकी है। खुली जांच में ग्रामीणों से रूबरू हुये एडीएम से अधिकांश ग्रामीणों ने ठेका निरस्त करने तो कुछ ने मौजूदा स्थान से हटा कर दूसरे स्थान पर ट्रांसफर करने की बात कही है।

रवा गांव में शराब ठेका हटवाने को लेकर एमएलसी और एसडीएम आमने सामने हैं। कोतवाली क्षेत्र का ग्राम रवा निकाय क्षेत्र से एमएलसी रमा निरंजन का गांव है और शराब ठेके को लेकर ग्रामीणों में उबाल है, गांव में स्थापित शराब ठेका हटवाने के लिये एमएलसी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है लेकिन प्रशासन का समुचित सपोर्ट नहीं मिलने के कारण ठेका हटना तो दूर की बात, जांच अधिकारियों द्वारा की जाने बाली जांच पर ही एमएलसी से सवालिया निशान खड़े कर दिये थे। एमएलसी ने जिलाधिकारी को पत्र भेज कर कोंच एसडीएम सुरेश सोनी की जांच पर ही सवाल खड़े करते हुये उनके ऊपर ठेकेदार की तरफदारी करने तक का आरोप जड़ डाला है। इसके बाद डीएम ने यह जांच एडीएम आरके सिंह को सौंप दी है जो गोपनीय ढंग से जांच कर अपनी रिपोर्ट डीएम को देंगे। एमएलसी प्रतिनिधि आरपी निरंजन का कहना है कि गांव रवा में शराब ठेका स्थापित होने के कारण गांव में अराजकता का माहौल है क्योंकि यह आम रास्ते पर पडऩे के कारण बहू बेटियों का निकलना मुश्किल हो जाता है। एडीएम आज एसडीएम और सीओ कोंच रुक्मिणी वर्मा के साथ गांव पहुंचे और लोगों के बयान लिये। बताया गया है कि अधिकांश ग्रामीणों ने ठेका निरस्त करने के पक्ष में तो कुछ ने ठेका अन्यत्र स्थानांतरित करने की बात कही है। बहरहाल, तीनों अधिकारियों के संयुक्त हस्ताक्षरों से डीएम को रिपोर्ट जानी है। एडीएम का कहना है कि अभी उन्होंने खुली जांच की है, गोपनीय जांच अभी बाकी है।_

*रिपोर्ट-हरिओम बुधौलिया*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here