राम रहीम : 15 साल पुराना केस, 20 साल की सजा

0
31

नई दिल्ली। पंचकूला सहित देश के चार राज्यों में हिंसक प्रदर्शन करने वाले गुंडों के बलात्कारी बाबा पर गत 25 अगस्त को हो सीबीआई कोर्ट के जज जगदीप सिंह द्वारा दोषी करार देने के बाद आज रोहतक के जेल में स्पेशल कोर्ट बना कर राम रहीम को 20 साल की सजा सुनाया गया।

बता दे कि जिस जेल में गुरमीत राम रहीम कैदी नंबर 1197 होंगे। बाबा को धारा 376, 511, 506 के तहत सजा सुनाई गई। दो अलग मामलों में कोर्ट ने 15 – 15 लाख रुपये का जुर्माना लगाया। आम कैदियों की तरह बाबा को जेल में काम करना होगा। कोई भी वीआईपी सुविधाएं नहीं दी जाएंगी। जेल के दो किलोमीटर रेंज के दूरी को छावनी में तब्दील कर दिया गया हैं। किसी भी संदिग्ध व्यक्ति देखते ही गोली मार देने का आदेश है। पंजाब – हरियाणा हाई अलर्ट पर है।

सजा के ऐलान के बाद हरियाणा सरकार के हाई लेवल मीटिंग बुलाई है। जिसमे गृह सचिव समेह हरियाणा के डीजीपी को बुलाया गया है। इस बैठक में कानून व्यवस्था के सुरक्षा व्यवस्था के बारे में चर्चा की जाएगी।

“बुराई पर अच्छाई को जीत हुई है, कोर्ट ने एक मिसाल कायम किया।”
– सीबीआई वकील

“फ़ैसले के ख़िलाफ़ डेरा सच्चा सौदा हाई कोर्ट में अपील करेगा।”

गौरतलब है कि, दोषी करार देने के बाद पंचकूला सहित देश के चार राज्य में हिंसक घटनाएं हुई। जिसमें 36 लोगों ने अपनी जान गवाई साथ हो सार्वजिक संपत्ति सहित निजी और सरकारी संपत्ति को हानि पहुंचाई गई। जिसकी कीमत करोड़ो है। इसकी भरपाई करने का आदेश पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट ने डेरा को दिया था।

कोर्ट रूम में किया हुआ…

कोर्ट ने दोनों पक्षों को अपनी बात रखने के लिए 15 – 15 मिनट का समय दिया। दोनों पक्षों ने अपनी दलील दी। दलील में बचाव पक्ष ने कहा कि, बाबा सामाजिक कार्यकर्ता है। जन कल्याणकारी कार्य करते हैं। कई अनाथ बच्चों का पालन करते हैं। ऐसे में उन्हें रियात दी जाए। सीबीआई वक़ील ने कहा कि, पीड़िता नाबालिक थी, ज़बरन और जन से मारने की धमकी दी गई, बेड पे रिवाल्वर रखा था। मामला गंभीर है माफ काने लायक नहीं है। जिसके बाद जज ने उन्हें 10 मिनट कोर्ट रूम के बाहर निकल ने को कहा। दोनों पक्षों के सामने फ़ैसला सुनाया गया। राम रहीम सज़ा सुनते ही सर पकड़ कर घुटनों के बल कटघरे में बैठ गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here