ग्राम प्रधान के मौजूदगी में हुए सुलह समझौते के दो दिन बाद मौके पर पहुँची पुलिस ने घर में घुसकर की महिला व बच्चे से मारपीट

0
42

Report by Ravindra Pandey

पुराने सुलह समझौते न मानने पर पुलिस डाल रही है दबाव,नये समझौते करने में जुटी है स्थानीय पुलिस-मामला है मंजू वर्मा पत्नी रामनायक वर्मा निवासी जुड़ापट्टी और उनके गांव के ही रामसूरत वर्मा पुत्र रामअंजोर दोनों पक्षो में कई वर्ष से जमीनी विवाद चल रहा था इस विवादित जमीन पर सुलह समझौता 8.01.2018 को रा.नि. सराय गोकुल,पुलिस बल , ग्राम प्रधान सत्यप्रकाश यादव व ग्रामवासियो की मौजूदगी में गाटा संख्या-1203 की पैमाइस करके सभी पक्षजनो द्वारा बटवारा आपसी सहमत पर किया गया,और भविष्य में इस पर कोई भी विवाद नही करने की बात किया गया था।जिसमे पक्षकार  रहे

रामसूरत,इंद्रावती,रामकरन व कमलेश कुमारी और इस समझौते में गवाह रहे रामयज्ञ पाल, टोनी पाल, रामअशीष ,शारदा प्रसाद व विनय आदि लोगो के सामने सुलहनामे पर अपनी रजामंदी से हताक्षर किये थे। परन्तु मंजू वर्मा पत्नी रामनायक वर्मा ने 10/01/2018 को सुल्तानपुर पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा से लिखित शिकायत किया है पूर्व में हुए सुलह समझौते को नजरअंदाज कर हमारे विपक्षी रामसूरत वर्मा ने स्थनीय पुलिस को साथ मेरे घर के दरवाजे के पास आये और बिना कुछ जानकारी किये कुरेभार थाने पर तैनात दरोगा हवलदार यादव व कांस्टेवल(सिपाही) सुधीर यादव घर में घुस गये और भद्दी -भद्दी गालियां देने लगे

,जिस समय महिला को गालियां दे रहे थे उस समय महिला ने बताया कि मैं घर में अकेली थी दोनों लोगो ने हाथो से  मुझे मारने पीटने लगे,उसी समय कोचिंग से मंजू पुत्र शुभम(14) भी आ गया और अपनी माँ को पिटता हुआ देखकर बचाने दौड़ा तो घर में मौजूद दोनों पुलिस वाले उसे भी पकड़कर भद्दी भद्दी गालियां देते थप्पड़ व डण्डे से उसे भी पीटना शुरू कर दिया जिसके कारण शुभम नीचे गिर गया और शोर मचाना शुरू कर दिया और वहाँ से भागकर किसी तरह अपनी जान बचाई

मंजू ने बताया कि कुरेभार थाने से आये हुए पुलिस उसको धमका रहे थे कि जो 8.1.2018 को प्रधान व गांववासियो के समक्ष दोनों लोगो ने सुलह समझौता किया था उसे रदद् कर दो हम दूसरा समझौता करायेगे, अगर हमारी बात नही मानोगे तो तुम्हारे ससुर व पति का हाथ पैर तोड़कर उन्हें जेल में बंदकर ,उसी जेल में सड़ा देगे,यह सब हमारे विपक्षी रामसूरत के कहने पर पुलिस वाले कह रहे थे।और दूसरे समझौता कराने का दबाव दे रहे थे।इस प्रकरण से मंजू वर्मा पत्नी रामनायक वर्मा व उनका परिवार अत्यंत भयभीत है,कि कही कुरेभार थाने की पुलिस मेरे परिवार को फर्जी मुकदमे में फसा न दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here