मलाड में पकड़ा गया फर्जी टिकट कलेक्टर।

0
46

मुंबई। पश्चिम रेलवे के सतर्कता विभाग ने उपनगरीय ट्रेन के दिव्यांग डिब्बे में धोखाघड़ी करते एक नकली टिकट कलेक्टर को पकड़ा है।

बता दें कि, पश्चिम रल्वे को स्रोतों से सूचना प्राप्त हुई थी कि एक संदिग्ध व्यक्ति टीसी के यूनिफॉर्म में नियमित रूप से उपनगरीय ट्रेनों के दिव्यांग डिब्बे में टिकट जाँच करता है। तथ्यों के सत्यापन हेतु सतर्कता विभाग की एक टीम ने 7 सितम्बर, 2017 को एक औचक जाँच करने की योजना बनाई।

जानकारी दें दे कि, सतर्कता विभाग का एक अधिकारी नालासोपारा से दिव्यांग डिब्बे में चढ़ा तथा किसी भी संदिग्ध व्यक्ति के ऊपर पैनी नज़र रखे हुए था। कुछ समय पश्चात टीसी के यूनीफॉर्म में एक व्यक्ति ने दिव्यांग डिब्बे में यात्रा कर रहे यात्रियों की जाँच शुरू कर दी। ट्रेन में मौजूद रेलकर्मी द्वारा संदिग्ध व्यक्ति की सूचना देने पर सतर्कता टीम ने आगे की जाँच हेतु संदिग्ध व्यक्ति को मालाड स्टेशन पर ट्रेन से नीचे उतार दिया।

पूछताछ करने पर धोखाघड़ी करने वाले व्यक्ति ने बताया कि उसका नाम प्रकाश फडकाले है तथा उसकी उम्र 46 वर्ष है। वह गोरेगाँव का निवासी है और रेलकर्मी नहीं है। सतर्कता टीम द्वारा आगे की जाँच करने पर प्रकाश फडकाले ने बताया कि वह गोरेगाँव में टेम्पो चलाता था तथा अवैध रूप से यात्रा कर रहे यात्रियों से पैसे कमाने हेतु वह पिछले एक वर्ष से नियमित तौर पर दिव्यांग डिब्बे में यात्रा कर टिकट की जाँच कर रहा था। आगे की कानूनी कार्रवाई हेतु आरोपी व्यक्ति को जीआरपी बोरीवली को सौंप दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here