जाने अपने रक्त के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

0
122

अपने शरीर का 70 प्रतिशत. भाग लाल रक्तपेशी के अंदर जो हीमोग्लोबिन होता है उसमें रहता है.चार प्रतिशत मासपेशियो के प्रोटीन मायोग्लोबिन में, पच्चीस प्रतिशत भाग यकृत, बॉन मरो, प्लीहा,मूत्रपिंड एवं बचा हुआ एक प्रतिशत रक्त प्लाज़्मा के तरल अंश व कोशिका के एन्जाइम्स में होता हैं।

यह भी पढ़े : मेले पात पैते नही हैं, नही तो मैं भी पटाते फोलता

जानिए अपने रक्त के बारे में 

1 मिली रक्तमे 10,000 सफेद रक्तपेशी में और 2,50,000 प्लेटलेट्स होते है.अपनी नसों में 400 किलोमीटर प्रतिघंटा इस गति से रक्ताभिसरण होता है.रक्त कोशिकाओं को पूरे शरीर मे घूमने के लिए 30 सेकंड लगते है. यह रक्त कोशिकाएं 20 सेकंड में 12000 किमी का अंतर पार कर सकते है.यदि अपने शरीर से रक्त को बाहर पम्प किया जाए तो यह रक्त 30 मीटर तक उड़ सकता है.

 

मनुष्य का रक्त चार प्रकार (O, A, B, AB)का हो है.लेकिन गाय में आपको 800,कुत्तो में 13 और बिल्ली में 11 प्रकार के रक्त पाए जाते है.

तुरंत जन्मे हुए बच्चे में 1 कप यानी के 250एमएल रक्त होता है और तरुण व्यक्ति में 5 लीटर रक्त हो सकता है. मतलब शरीर के वजन का 7 प्रतिशत रक्त रहता है.
अभी तक कृत्रिम रक्त नही बनाया गया है.

लाल रक्तपेशी ये ऑक्सीजन को लेकर जाते है और कार्बनडाईऑक्साइड खत्म करते है.सफेद पेशी यह शरीर मे होनेवाले बैक्टिरिया और वायरस से बचाते है.प्लाज़्मा यह शरीर मे प्रोटीन तैयार करता है.

गर्भवती महिला और स्तनपान करनेवाली महिलाएं रक्तदान नही कर सकती.शारीरिक दृष्टि जैसे कि पेशाब करने और रक्तदान कर आ असंभव है.

जेम्स हैरिसन नाम के व्यक्ति ने पिछले साठ वर्षो में 1000 बार रक्तदान किया है और 20 लाख लोगों की जान बचाई है.

प्रत्येक दिन विश्व मे 40000 यूनिट रक्त की आवश्यकता होती है.3 में से 1 व्यक्ति को अपने जीवन मे रक्त की आवयश्कता जरूर पड़ती है.

स्वीडन में जब कोई रक्तदान करता है तो उसे” Thank You” यह संदेश भेजा जाता है और ऐसा ही संदेश जिसमे रक्त की कमी आती है उसे भेज जाता है.जापान में लोग रक्तग्रुप से ही इंसान व्यक्तित्व का अंदाज लगा लेते है.

ब्राज़ील देश मे बोरोरो नामक एक आदिवासी समूह है, आश्चर्य की बात यह है इस समूह के सभी लोगो का रक्तग्रुप यानी के ब्लूड ग्रुप “O” है. आसपास के सभी लोगो मे लाल रंग का रक्त देखनो के मिलता है, लेकिन कोली और गोगलगे में हल्के नीले रंग का रक्त देखने को मिलता है.

हमारे शरीर मे तकरीबन 0.2 मिलीग्राम सोना होता है और जो सबसे ज्यादा रक्त में पाया जाता है. 40000 लोगो के रक्त में से तकरीबन 8 ग्राम सोना निकाला जा सकता है.

सिर्फ मादा मच्छर ही इंसानों का रक्त चुस्ती है, नर मच्छर यह शाकाहारी होते है यह खाली मीठा द्रव्य ही पीते है. मादा मच्छर यह अपने वजन से तीन गुना ज्यादा रक्त पी सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here