क्या हैं, जियो का प्लान महंगा करने के पीछे की असली वजह ?

0
64

अगर हम कम कीमत पर डेटा की बात करें तो सबसे पहले जहन में जियो आयेगा जिसने हाल में ही अपने प्लान की कीमतों में इजाफा कर दिया है या फिर डेटा इस्तमाल करने की अवधि कम कर दी है।

अगर हम 399 रूपए वाले जियो धन धना धन ऑफर की बात करें तो इसकी कीमत अब 459 रूपए हो गई है या फिर उपभोक्ता 399 रुपये में 84 दिन की बजाय एक बार के रिचार्ज में महज 70 दिन ही डेटा का इस्तेमाल कर पाएंगे।

जियो के इस निर्णय से उपभोक्ता काफी नाराज है। पर क्या कभी आपका ध्यान इस बात पर गया कि जियो के इस निर्णय के पीछे वास्तविक कारण क्या हो सकता है?

 

जानिए क्या है जियो का फ्यूचर प्लान

तो हम आपको बता दे कि जियो का पूरा इंफ्रास्ट्रक्चर फाइबर ऑप्टिक केबल पर आधारित है, जियो में वाइस कॉल इसलिए फ्री है क्योंकि वो इंटरनेट डाटा का इस्तेमाल करके की जाती है। आपको ये जानकार हैरान हो सकते हैं की जियो के भारत में 2.5 लाख किलोमीटर से ज्यादा की ऑप्टिक फाइबर केबल बिछ गये हैं और हर दिन इस पर जोरो शोरो के काम शुरू है। जियो का लक्ष्य है कि वो पूरे भारत न सिर्फ शहर बल्कि गांव तक भी सस्ते इंटरनेट पैक पहुंचा दे।

यह भी पढ़े : अमसिन : स्टे आर्डर के बाद भी दबंगों ने पुलिस से मिलीभगत से जमीन की नवैय्यत बदली 

पर टेलीकॉम टॉक की एक खबर के माने तो जियो के इस कोशिश को पूरा होने में अभी कुछ और समय का वक्त चाहिए। हाल ही में जारी हुए एक रिपोर्ट से पता चला है कि फ्री इंटरनेट उपलब्ध करवाने के लिए रिलायंस को पिछले तीन महीने में 250 करोड़ से ज्यादा का नुकसान का सामना करना पड़ा है, जबकि जियो का पहले तीन महीने में ये नुकसान सिर्फ 122.4 करोड़ का था।

रिलायंस जियो ने भले ही कितना अच्छा बिज़नेस मॉडल क्यों न तैयार किया हो, पर किसी भी बिज़नेस मॉडल के काम करने में थोड़ा समय जरूर लगता हैं | रिलायंस जियो एक बिज़नेस है जिसे रन करने के लिए पैसे की जरुरत पड़ती है |

रिलायंस जियो के प्रमुख मुकेश अम्बानी ने हाल में ही एक प्रेस इंटरव्यू के दौरान फाइबर ऑप्टिक केबल पूरे देश में मार्च 2018 तक बिछा देने की बात कही थी जिससे वाइस कॉल और इंटरनेट का पूरा कण्ट्रोल जियो के पास आ जायेगा। और अभी जियो को दूसरे ऑपरेटर से कॉल कनेक्ट करने के लिए 6 पैसे प्रति मिनट देने पड़ते है जिससे जियो का नुकसान ही हो रहा है।

जियो ने अपने मॉडल को संछेप में समझाते हुए कहा है कि – वाइस कॉल और डेटा की कीमतों में गिरावट लाने के लिए हमने जो जंग छेड़ी है वो अब हमेशा चलती रहेगी और मार्किट में सिर्फ वह कम्पनियाँ टिक पाएंगी जो सस्ते दरों में ये सुविधाएं प्रदान करेंगी।

टेलीकॉम टॉक के मुताबिक मार्च 2018 के बाद जियो 50-53 रूपए में 1GB इंटरनेट देने की तैयारी में जुटा हुआ है, जिससे हम सिर्फ 151 रुपए में 84 दिनों के लिए 84 GB डाटा का इस्तेमाल कर पाएंगे।

फिलाल जियो 850 MHz और 1800 MHz के स्पेक्ट्रम में काम करता है पर मार्च 2018 के बाद जियो अपने स्पेक्ट्रम को 2300 MHz तक एक्सपैंड कर पायेगा जिससे इंटरनेट स्पीड भी काफी तेज हो जायेगी और उपभोक्ता और आनंद से जियो का फायदा उठाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here