हत्या का खुलासा कराने को एएसपी ने कोंच में डाला डेरा , कुंआ खाली कराने के निर्देश दिये एएसपी ने

0
27
Report by Hariom Budhauliya

कोंच –  हरी मटर की फली बेचने के बाद ग्राम वरोदा कलां के किसान लालसिंह पटेल के अपहरण और हत्या की गुत्थी अभी ज्यों की त्यों बरकरार है, इस गुत्थी में तमाम पेंच अभी भी फंसे हैं और जब तक ये पेंच निकल नहीं जाते तब तक अगर पुलिस इस मामले का खुलासा करती भी है तो यह उसका जल्दबाजी में उठाया गया कदम ही माना जायेगा। इस हत्याकांड का खुलासा कराने के लिये एएसपी सुरेन्द्रनाथ तिवारी ने कोंच में डेरा डाला हुआ है। वे शुक्रवार को एक बार फिर कोतवाली पुलिस के साथ घटना स्थल मौजा चमड़ा ठाकुरपुर में स्थित उस कुंये के पास गये जिसमें मृतक लालसिंह की लाश पाई गई थी। उन्होंने पुलिस को उक्त कुंआ पूरी तरह खाली कराने के निर्देश दिये हैं।

गौरतलब है कि गुजरी तीन जनवरी को हरी मटर की फली कोंच बेचने आया ग्राम वरोदा कलां का किसान लालसिंह पटेल अचानक ही कोंच से गायब हो गया था और उसके अपहरण की आशंका जताई गई थी। घटना के दो दिन बाद कोतवाली पुलिस ने उक्त प्रकरण गुमशुदगी में दर्ज कर लिया था और घटना के सप्ताह भर बाद यानी दस जनवरी को लालसिंह की लाश चमड़ा ठाकुरपुर मौजा स्थित एक कुंये में उतराती पाई गई थी। पुलिस ने वाइका में दो लोगों गजराज व दिनेश निवासी वरोदा के खिलाफ नामजद एफआईआर भी दर्ज कर ली है लेकिन हिरासत में बैठे दोनों आरोपियों से अभी तक पुलिस कुछ उगलवा नहीं सकी है। मृतक के परिजनों की अगर मानें तो अभी भी मृतक का मोबाइल, टोपा और मफलर गायब है।

इस प्रकरण को खोलने के लिये पुलिस विभाग के आला अधिकारी पूरी तन्मयता से लगे हैं, यहां तक कि अपर पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्रनाथ तिवारी ने कोंच में ही डेरा डाल लिया है, शुक्रवार को एक बार फिर से एएसपी ने घटना स्थल का मुआयना किया है और कोतवाली पुलिस को वह कुंआ जिसमें लालसिंह की लाश मिली थी, को पूरी तरह खाली कराने के निर्देश दिये गये हैं। इसके पीछे पुलिस अधिकारियों की सोच आला कत्ल तथा मृतक की मिसिंग चीजें बरामद करने की हो सकती है। इस दौरान सीओ कोंच रुक्मिणी वर्मा, कोतवाल संतोषकुमार सिंह, एसएसआई मनोज सिंह, एसओ कैलिया प्रभुनाथ आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here