विश्वकर्मा पूजा धूम धाम से मनाई गई

0
19

Report by Ravindra Pandey

विश्‍वकर्मा भगवान को निर्माता का देवता माना जाता है. मान्‍यता है कि उन्‍होंने देवताओं के लिए अनेकों भव्‍य महलों, आलीशान भवन हथियारों और राज्य सिंघासनों का निर्माण किया. यह त्यौहार पत्येक साल 17 सितंबर को मनाया जाता है. कहा जाता है कि इसी दिन निर्माण के देवता विश्‍वकर्मा का जन्‍म हुआ था. विश्‍वकर्मा को देवशिल्‍पी यानी कि देवताओं के वास्‍तुकार के रूप में पूजा जाता है. यह भी मान्यता है कि उन्‍होंने देवताओं के लिए महलों, हथियारों और भवनों का निर्माण किया था. विश्‍वकर्मा पूजा के मौके पर सरकारी दफ्तरों में छुट्टी होती है और कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. इस दौरान औजारों, मशीनों और दुकानों की पूजा करने का विधान है.

आज सम्पूर्ण भारतवर्ष में विश्वकर्मा भगवान की जयंती धूम धाम से मनाई जा रही है ।सुबह से लोग अपने गाड़ियों सफाई करके पूजा अर्चना कर रहे थे और कुछ कारीगर तो अपने लौखन के बने औजारों की साफ सफाई कर पूजा कर रहे थे और कुछ प्रवेट कंपनियों में पर भगवान विश्वकर्मा की तस्बीर पर पुष्प माला अर्पित कर लोगो को मिठाई का भोग लगाकर लोगो को प्रसाद वितरित करने में जुटे हुए है।इस मौके पर बाबूगंज,गुप्तारगंज ,कुरेभार बाजार निवासी सचिन विश्वकर्मा,देवांग,संदीप,व विजय पाण्डेय ने मनाया विश्वकर्मा भगवन की जयंती।
वही प्रवेट कम्पनी के सूरज जैसवाल,सन्नी मिश्र, के जी नन्दू,बिलास,N. P. वर्मा आदि लोगो ने भी धूम धाम से मनाया त्यौहार।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here